तेलंगाना जिले के जनगांव के इलाकें में एक शख्स ने 10 वीं पास करके अपना क्लीनिक खोला और फर्जी डॉक्टर बनकर लोगों का इलाज किया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक 10 वीं पास शख्स के क्लीनिक पर छापा मारा तो पता चला। वह व्यक्ति पिछले 4 चार साल से लोगों का इलाज कर रहा है।

पुलिस ने बताया की इसके पास कोई डिग्री व सर्टिफिकेट नहीं है। यह फर्जी डॉक्टर है जिसने कितने लोगों का इलाज किया है। पुलिस पता लगा रही है कि उसने कितने लोगों की सर्जरी की है। आरोपी ने बताया कि उसने कई मेडिकल पर काम किया था। जिसको वहां से अनुभव हुआ और अपना क्लीनिक खोल लिया।

सोमवार को शिकायत मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अरोपी के क्लीनिक पर छापा मारा और फरर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार कराया। आरोपी की उम्र 40 साल है, उसने 4 साल मरीजों का इलाज किया। बताया जा रहा है कि डॉक्टर अधिक पाइल्स और फिस्टुला की बीमारियों का इलाज किया करता था।

पूछताछ के दौरान पता लगाया गया तो आरोपी ने सिर्फ 10 वीं कक्षा की पढ़ाई की थी, उसके बाद आरोपी ने खुद का क्लीनिक लोगों का इलाज करने के लिए खोल लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने कई जगहों पर कंपाउडर के रूप में काफी अलग-ंउचयअलग काम किया है। जिसका अनुभव लेकर उसने क्लीनिक खोला था।