कांग्रेस पार्टी को दक्षिण भारत के केरल में बड़ा झटका लगा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री एके एटनी के बेटे अनिल के एटनी ने कांग्रेस पार्टी ने सभी पदों से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया है। बुधवार यानी आज के दिन अनिल एंटनी ने अपने इस्तीफे की चिट्टी ट्वीट की है। पीएम मोदी पर बनी BBC की विवादित डॉक्यूमेंटी का विरोध करने के एक दिन बाद ही ये फैसला लिया है।

 

अनिल एंटनी ने शशि थरूर का समर्थन के लिए  शुक्रिया अदा किया और साथ कांग्रेस पार्टी को भी घेरा है। गौरतलब है कि अनिल के. एंटनी के कांग्रेस पार्टी में सभी पंदों से इस्तीफे का ऐलान करने से एक दिन पहले एक BBC की डॉक्यूमेंटी को लेकर एक ट्वीट किया था। जिसके बाद वे अपनी ही पार्टी में घिर गए थे।

अनिल एंटनी कांग्रेस पार्टी की केरल ईकाई के डिलिटल संचार प्रमुख का पद संभाल चुके है। उन्होने ट्टीट करते हुए आगे लिखा कि मै अपनी भुमिकाओं से इस्तीफा दे दिया है। आगे उन्होंने लिखा कि प्रेम का प्रचार करने वाले फेसबुक पर मेरे खिलाफ नफरत- अपशब्द का इस्तेमाल कर रहे थे। इसे भी पाखंड कहते है। जीवन ऐसा ही है। अनिल ने आगे कहा कि कल जो भी हुआ, मुझे लगता है कि इसके बाद यही, कांग्रेस में सभी जिम्मेदारियां- केरल कमेटी की डिजिटल मीडिया और ऑल इंडिया कांग्रेस की सोशल मीडिया और डिजिटल कम्यूनिकेशन सेल छोड़ने का समय है। 

अनिल के. एंटनी ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैंने कल एक ट्वीट किया था और मैंने वो ट्वीट अपने अच्छे इरादे से किया था.....उसके बाद काफी धमकी भरे कॉल और नफरत भरे संदेश आने लगे। मैं जहां से आता हूं मुझे नहीं लगता ये वो लोग हैं जिनके साथ मुझे काम करना चाहिए। साथ ही उन्होंने आगे कहा कि मैं पूरे जीवन कांग्रेस से जुड़ा रहा और मेरे पिता पिछले 6 दशकों से पार्टी के साथ हैं। ऐसे पृष्ठभूमि से आने के बाद भी पिछले 24 घंटों में जो कुछ हुआ, खासकर कांग्रेस के कुछ विशेष कोनों से, उसने मुझे बहुत आहत किया है। मुझे लगता है कि ये एक सही निर्णय है।