आज पूरा देश अपना 74वां गणतंत्र दिवस मनाया रहा है। हर तरह लोग देश भक्ति में डूबे हुए है। आज का गणतंत्र दिवस समारोह बेहद खास होने वाला है इस खास मौके पर भारत सैन्य कौशल, सांस्कृतिक विविधता और कई अन्य अनूठी पहलों का गवाह बनेगा। कर्तव्य पथ पर इस बार नारी शक्ति का बोलबाला रहेगा। जिसे देखने के बाद महिलाओं का गौरव पूरा देश देखेगा। इस मौके पर कर्तव्य पथ पर परेड निकाली गई है। इस परेड में भारत का स्वदेशी  सैन्य पराक्रम और नारी शक्ती देखने को मिली। गृह मंत्रालय द्वारा नशा मुक्त भारत की झांकी और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की झांकी में 'नारी शक्ति' को दर्शाया गया है।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर कर्तव्य पथ पर परेड में कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा बाजरा का अंतर्राष्ट्रीय वर्ष 2023 - भारत की पहल विषय पर झांकी प्रस्तुत की गई। गणतंत्र दिवस परेड में उत्तर प्रदेश की झांकी में अयोध्या में मनाए जाने वाले तीन दिवसीय दीपोत्सव को दिखाया गया। गणतंत्र दिवस के अवसर पर कर्तव्य पथ पर गुजरात की झांकी दिखाई गई। झाकी की थीम 'स्वच्छ-हरित ऊर्जा कुशल गुजरात' विषय पर रही। गणतंत्र दिवस पर कर्तव्य पथ पर NCC कैडेट्स ने मार्च किया। 27 वायु रक्षा मिसाइल रेजिमेंट की आकाश मिसाइल सिस्टम, 'अमृतसर एयरफील्ड' का नेतृत्व कैप्टन सुनील दशरथ और 512 लाइट एडी मिसाइल रेजिमेंट (एसपी) की लेफ्टिनेंट चेतना शर्मा कर रही हैं। 

26 जनवरी को पीएम नहीं फहराते तिरंगा

15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ था। उस समय संविधान नहीं बना था इसलिए देश का मुखिया प्रधानमंत्री थे। तब प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर ध्वजारोहण था। इसके बाद 26 जनवरी 1950 को संविधान बना और डॉ. राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति बन चुके थे। राष्ट्रीय देश के पहले नागरिक माने जाते हैं इसलिए 26 जनवरी को उन्होंने तिरंगा फहराया था। तभी से हर साल 26 जनवरी को राष्ट्रपति झंडा फहराते और स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री ध्वजारोहण करते हैं।