रिपोर्ट- उमेर खान, जम्मू-कश्मीर

जम्मू-कश्मीर: बुधवार को अधिकारियों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की राज्य जांच एजेंसी ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार एक हेड कांस्टेबल से जुड़े कई स्थानों पर छापेमारी की। ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या वह भी आतंकवाद के बढ़ावा देने में हो रही फंडिंग में शामिल था। बता दे, मंगलवार को गिरफ्तार किए गए मोहम्मद रमजान के नाम पर 16 बैंक खाते हैं, जिनमें करोड़ों का लेनदेन है। उन्होंने बताया कि वह 10 विदेशी मोबाइल नंबरों के भी संपर्क में था और उसने फर्जी पासपोर्ट हासिल किया था।

अधिकारियों ने बताया कि राज्य जांच एजेंसी (एसआईए) की जम्मू विंग की टीम ने क्रमशः कुलगाम और जम्मू शहर के भटिंडी इलाके में रमजान और दुबई स्थित अबू बेकर के घरों पर छापेमारी की। एक अधिकारी ने कहा, "हम यह देखने के लिए जांच कर रहे हैं कि क्या वह (रमजान) भी आतंकी फंडिंग में शामिल था क्योंकि उसके कई खाते हैं और करोड़ों का लेनदेन है।" मंगलवार को रमजान को जमानत देने से इनकार करते हुए स्थानीय अदालत ने पाया कि, पुलिस ने उसके 16 बैंक खातों में लगभग 6 करोड़ रुपये के लेन-देन के बारे में रिपोर्ट दी और 10 विदेशी मोबाइल नंबरों के साथ उसके संपर्क ने मामले की गंभीरता की ओर इशारा किया।

पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि रमजान ने मुंबई, उत्तर प्रदेश और गोवा समेत देश के कई हिस्सों का दौरा किया था। उन्होंने संचार उद्देश्यों के लिए कई मोबाइल एप्लिकेशन और वीपीएन (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) का इस्तेमाल किया। एसआईए ने यह भी पाया कि रमजान ने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर कई पैन कार्ड हासिल किए। उसने जाली दस्तावेजों का उपयोग करके विदेश की भी यात्रा की।