बच्चों को सोने की आदत कई हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि जो बच्चे छोटे होते हैं उनमें बड़ों के मुकाबले इम्यूनिटी और मेटाबॉलिज्म की कमी होती है। छोटे बच्चों की सेहत पर बहुत ध्यान देने के बावजूद भी उनके शरीर में अनेक प्रकार की बीमारियां प्रवेश कर लेती हैं जिससे बच्चे गंभीर रूप से बीमारियों के शिकार बन जाते हैं।

काफी बच्चें ऐसे भी होते हैं जो ठीक से अपने खान-पान में ध्यान नहीं देते हैं। जिसके कारण उनका शरीर कमजोर हो जाता है अक्सर खान-पान की कुछ गलतियां केवल बच्चों को ही नहीं बल्कि बड़ें लोगों को भी बीमारियों का शिकार बना सकती है। ठीक समय पर भोजन न करना या फिर बाहर की चीजों का अधिक सेवन करना ये सभी गलतियां शरीर में बीमारियों के होने का इशारा हैं।

छोटी-छोटी- समस्याएं अक्सर बच्चों में देखी जाती हैं साथ ही ऐसी समस्याएं खेलने –कूदने के दौरांन शरीर में प्रवेश कर लेती हैं। ऐसे छोटी समस्याओं के कारण बच्चे जल्दी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। बच्चों को अच्छी आदत और बुरी आदत का ज्ञान नहीं होता है। बच्चे अपनी सेहत को लेकर गंभीर नहीं होते हैं।

जिसके कारण वह किसी भी चीज को किसी भी समय पर खा लेते हैं जिसके चलते उन्हें अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

बच्चों में डालें इन चीजों की आदत

भोजन को चबाकर खाएं

जो बच्चे जल्दबाजी के चलते ठीक से भोजन को चबाकर नहीं खाते हैं उनके शरीर में गैस की समस्या शुरू हो सकती है। बच्चों के भोजन चबाने की आदत डालनी चाहिए क्योंकि जल्दबाजी में खाय़ा गया भोजन शरीर में पच नहीं पाता है जिससे पेट की समस्याएं शुरू होने लगती हैं।

नाश्ते की आदत डालें

जो बच्चे रोजाना बिना नाश्ता किए ही स्कूल चले जाते हैं ऐसे बच्चों के शरीर में कमजोरी आने की संभावना बनी रहती है। साथ ही कमजोर शरीर में बीमारियां भी जल्दी प्रवेश कर लेती हैं।

भोजन के बाद बच्चों को सोने न दें

काफी लोग होते हैं जो खाना खाने के तुरंत ही सो जाते हैं यह शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है । भोजन करने के बाद तुरंत सोने से शरीर में भोजन का पाचन ठीक से नहीं हो पाता है। जिसके कारण पेट की समस्यां शरीर में हो सकती है।