मेनोपॉज (Menopause) एक ऐसी स्टेज है, जब महिलाओं के पीरियड पूरी तरह से बंद हो जाते हैं। बता दें कि इस स्थिति में आने से कुछ साल पहले ही बॉडी एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन (Progesterone hormone) का निष्कासन करना धीरे-धीरे कम कर देती है। इस दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते है। जैसे चिड़चिड़ापन, मूड स्विंग, नींद ना आना आदि। इसके साथ ही मेनोपॉज की स्टेज में गुस्सा और अधिक बढ़ जाता है। ऐसे में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है बल्कि आप अपनी दिनचर्या में कुछ बदलाव करके चिड़चिड़ापन और मूड स्विंग की समस्या को कंट्रोल कर सकती है।

1. डाइट का रखे ख्याल- मेनोपॉज (Menopause) की स्थिति के दौरान डाइट का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए। इस दौरान अनहेल्दी या फिर जंक फूड खाने से परहेज करें। इनके बजाय प्रोटीन रिच फूड डाइट में शामिल कर सकती है।

2. व्यायाम करें- शारीरिक और मानिसक परेशानी से निजात पाने के लिए एक्सरसाइज (Excercise) करना बेस्ट ऑप्शन है। इससे चिड़चिड़ापन और गुस्सा कंट्रोल करने में आपको मदद मिलेगी।

3. मेडिटेशन - मेनोपॉज के दौरान सुबह कम से कम 20 मिनट मेडिटेशन (Meditation) या फिर योगा (Yoga) करने से गुस्से को काबू किया जा सकता है। इसके साथ ही इससे आप बेहतर फील करेंगी।

4. पूरी नींद- अगर आप मेनोपॉज की स्टेज से गुजर रही है तो रोजाना 8 से 9 घंटे की नींद ले। ऐसा करने से आपको काफी रिलैक्स फील होगा।

5.ग्रीन टी -मेनोपॉज में हेल्दी ड्रिंग्स ले सकते है। इसमें आप ग्रीन टी (Green tea)या फिर हल्दी वाले दूध को शामिल कर सकती है। ये दोनों ही मूड स्विंग को कंट्रोल करने में मददगार साबित होंगे।

6. फैमिली टाइम- मेनोपॉज में चिड़चिड़ापन दूर करने के लिए परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताना आपकी हेल्थ के लिए अच्छा रहेगा। साथ ही इससे आपका मेंटल स्ट्रेस भी कम होगा।