खराब दिनचर्या और अनहेल्दी फूड्स के कारण पाइल्स यानी बवासीर की समस्या आज के दौर में कॉमन हो गई है। इस बीमारी में एनल के अंदर और बाहर सूजन होती है, मल त्याग करने के दौरान दर्द होता है और कई बार खून आने की समस्या भी होती है। आमतौर पर ये बीमारी कब्ज के कारण होती है। जब ये बीमारी गंभीर होतो डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए हालांकि आप इस बीमारी से बचने के लिए डाइट में कुछ बदलाव भी कर सकते हैं।

मूली-मूली में डायट्री फाइबर भरपूर मात्रा में होता है जो पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में मदद करता है। साथ ही मल को नरम करने में भी सहायक है।मूली में विटामिन-सी, ग्लूकोसाइलिनेट्स, रापिनिन और कई पोशक तत्व पाए जाते हैं।

सेब-सेब पर्याप्त मात्रा में डायट्री फाइबर और कई पोषक तत्वों से भरपूर पाया जाता है जो पाचन संबंधी समस्या से राहत दिलाने में मददगार होते हैं। सेब में  पेक्टिन नाम का एक तत्व मौजूद होता हैजो मल को नरम बनाने में सहायक होता है।

दाल-दाल में भी पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है तो अगर आप आहार में दाल का सेवन करते हैंतो इससे पेट साफ होने में मदद मिलती है और साथ ही कब्ज की समस्या में राहत मिल सकती है।

केला-केले में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जैस कि जिंक,फाइबर, विटामिन-Cजो पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। अगर आप केले का सेवन करते हैंतो भी आपको पाइल्स की समस्या में राहत मिल सकती है।