अक्सर लोग घर को खूबसूरत बनाने के लिए न जाने क्या कुछ नहीं करते वहीं घर की साज सजावट के लिए गर्डनिंग भी करते हैं, जिसमें खूबसूरत फूलों के प्लांट्स लगाना एक बेहतर विकल्प माना जाता है। उन्हीं मे से एक पौधा होता है, ऑर्किड का यह काफी खूबसूरत होता है, कुछ लोग अपने घर की खूबसूरती बढ़ाने के लिए इस पौधे को लगा तो लेते हैं, लेकिन इसका अच्छे से ध्यान नहीं रख पाते हैं। इस पौधे की देखभाल मे ज़रा सी भी गलती से ही यह अच्छे से पनप नही पाता और खराब हो जाता है.यदि आप भी अपने घर मे ऑर्किड का पौधा लगाने की सोच रहे हैं और यह नहीं जानते की इसकी देखभाल के लिए कौन- कौन सी गलतियाँ करने से हमें बचना चाहिए तो आप इन टिप्स को ज़रूर फॉलो करें......

1 ज्यादा पानी देना

यदि आपके घर मे ऑर्किड का पौधा है , तो यह जान लें की यह पौधा एक खास किस्म की मिट्टी मे ही होता है, अगर आप इस पौधे की बेहतर ग्रोथ चाहते हो तो ध्यान रहे इस पौधे को जभी पानी दें, जब इसकी मिट्टी हल्की सी सूखी हो. वह इसलिए क्योकि इस पौधे को अधिक पानी की आवश्यकता नही होती है , इसको हर दूसरे या तीसरे दिन छोड़कर ही पानी डालें।

2 हार्ड वॉटर का इस्तेमाल न करें

ज़्यादातर लोग ऑर्किड के पौधे में डायरेक्ट नल का पानी देते हैं, जिसको हार्ड वॉटर भी कहा जाता है। हार्ड वॉटर के इस्तेमाल से ऑर्किड के पौधे मुरझाने लगते हैं जिसकी वजह से उस पर फूल भी नहीं आते। बेहतर होगा की ऑर्किड के पौधे में डालने के लिए केवल मीठे पानी का ही इस्तेमाल करें।

3 पौधे को ठंडी जगह पर न रखना

यदि आप किसी ठंडे इलाके में रहते हैं , तो ध्यान रहें ऑर्किड के पौधे को खिड़की के पास ना रखें। क्योंकि ठंड से ऑर्कि़ड को पौधा मुरझा सकता है। पौधे को न ही ज्यादा ठंड में रखें और न ही ज्यादा धूप में इसकी वजह से भी पौधा मुरझा सकता है। ऑर्कि़ड के पौधे को हमेशा उस जगह पर ही रखें जहाँ हल्की - हल्की धूप आती हो।

4 पौधे में अधिक खाद का इस्तेमाल न करें

यह तो आपको भी मालूम होगा की किसी भी चीज़ की अति हानिकारक होती है। ज़्यदातर लोग यह सोचते हैं की पौधे में अधिक खाद के इस्तेमाल से उसमें अधिक फूल आएंगे। लेकिन यह गलत है, इससे पौधे को फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। ऑर्किड के पौधे में अधिक खाद डालने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

5 घर में ऑर्किड कैसे उगाये

ऑर्किड पौधे लगाने के लिए कभी भी मुरझाया हुआ पौधा न लगाएं। अगर आपको कटिंग से ऑर्किड उगाना है तो इस तरह की कटिंग का चयन करें जो एक स्वस्थ पौधे से हो। स्टेम कटिंग में यह धेयान रखने की उसमें कम से कम 2 से 3 नोड्स यानी गांठ होनी चाहिए। इससे पौधा उसी जगह से विकसित होगा जहा पर नोड्स होंगी।