हर साल 1 अक्टूबर को राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस मनाया जाता है ताकि हमारे देश में उन सभी लोगों को धन्यवाद दिया जा सके जिन्होने जिंदगी बचाने के लिए रक्तदान किया और लोगों को इसके प्रति जागरूक कर सके वैसे सही मायने में हर इंसान को हर तीन महीनें में नियमित रूप से रक्तदान करें। किसी भी व्यक्ति को खून की कमी से अगर उसकी जान जा रही है तो उसकी मदद जारूर करें।

स्किन साफ व सुंदर

ब्लड डोनेट करने से नया खून और सेल्स बनते है जो आपकी स्किन को साफ और सुंदर बनाती है।

आयरन को बाहर निकाले

बॉड़ी के एकस्ट्रा आयरन को बाहर निकालने का एक बेहतर तरीका।

वजन घटाने में

रक्तदान करने से कैलोरी बर्न होती है इससे वजन को घटाया जा सकता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता

हर तीन महीनें में रक्तदान करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

प्रेगनेंसी

महिलाओं को रक्तदान करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे पिछले 6 हफ्तों से गर्भवती न हो।

किस उम्र में करें रक्तदान

रक्तदान 18 से 60 साल की उम्र तक महिलाएं कर सकती है।