कप्तान हरमनप्रीत कौर की नाबाद 143 रन की आकर्षक शतकीय पारी और रेणुका सिंह के चार विकेट की मदद से भारत ने दूसरे महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में इंग्लैंड को 88 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल की। भारतीय महिला टीम ने इस तरह से इंग्लैंड की धरती पर 1999 के बाद पहली बार एकदिवसीय श्रृंखला जीती। उसने 23 साल पहले इंग्लैंड को 2-1 से हराया था।

हरमनप्रीत ने अपनी शतकीय पारी में 111 गेंदों का सामना करके 18 चौके और चार छक्के लगाए। यह उनका वनडे क्रिकेट में पांचवा और इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा शतक है। उनके अलावा हरलीन देओल ने 58 और सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने 40 रन का योगदान दिया जिससे भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 333 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। यह भारतीय महिला टीम का वनडे क्रिकेट में दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है।

उसने इससे पहले 2017 में आयरलैंड के खिलाफ पोटचेफ्सट्रूम में दो विकेट पर 358 रन बनाए थे। हरमनप्रीत की शानदार बल्लेबाजी के बाद मध्यम गति के गेंदबाज रेणुका सिंह ने गेंदबाजी में कमाल दिखाया तथा 57 रन देकर चार विकेट लिए जिससे भारत ने इंग्लैंड को 44.2 ओवर में 245 रन पर आउट कर दिया। उसकी तरफ से डैनी वाइट ने सर्वाधिक 65 रन बनाए।

भारत इस तरह से दिग्गज तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को शानदार विदाई देने में सफल रहा जो अपनी आखिरी वनडे श्रृंखला खेल रही हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच शनिवार को लॉर्डस में होने वाला तीसरा मैच झूलन का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आखिरी मैच होगा और भारतीय टीम उसमें जीत दर्ज करके क्लीन स्वीप के साथ अपनी इस स्टार खिलाड़ी को विदाई देना चाहेगी।