रिपोर्ट-मुस्कान 

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में प्रस्तावित झुग्गी विध्वंस अभियान को लेकर एक बार फिर आम आदमी पार्टी और बीजेपी आमने सामने आ चुके हैं। शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के विधायक आतिशी मार्लेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाए कि बीजेपी चुनाव के वक्त सभी को घर देने का वादा करती है। और चुनाव खत्म होते ही उनके घर पर बुलडोजर भेज देती है। एक तरफ पीएम मोदी कहते हैं कि जहां झुग्गी वहीं मकान होगा, वहीं अपनी पार्टी के इशारे पर डीडीए लोगों के घरों को तोड़ रहा है।

आपको बता दें कि दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी यानी डीडीए ने दिल्ली के महरौली में 100 से ज्यादा झुग्गियां हटाने का नोटिस दिया है। नोटिस में झुग्गियों में रह रहे लोगों को चेतावनी दी गई कि अगर वे खुद नहीं हटे तो डीडीए झुग्गियों को हटाने के लिए बुलडोजर चलाएगा। आतिशी ने आगे कहा कि दिल्ली के कालकाजी इलाके, तुगलकाबाद गांव, महरौली, सुभाष कैंप आदि इलाकों में झुग्गियों को गिराने के लिए नोटिस भेजा गया है। इसके खिलाफ आप शनिवार सुबह 11:30 बजे बीजेपी नेता रमेश बिधूड़ी के साथ इन इलाकों के लोगों से मिलने जाएगी और अगर वह नहीं मिले तो आम आदमी पार्टी वहां धरने पर बैठेगी। 

इसके साथ ही आम आदमी पार्टी के विधायक आतिशी ने कहा कि "मैंने LG वीके सक्सेना से अनुरोध किया है कि एक बार भारत के संविधान को अच्छी तरह से पढ़ लें और संविधान पीठ के फैसले को पढ़ लें, एलजी को पता चल जाएगा कि एलजी की क्या जिम्मेदारी है और चुनी हुई सरकार की क्या जिम्मेदारी है"। आप विधायक ने आरोप लगाया है कि एलजी 24 घंटे चुनी हुई केजरीवाल सरकार के काम काज में दखल दे रहे हैं। वहीं आतिशी ने दिल्ली की कानून व्यवस्था को लेकर भी एलजी वीके सक्सेना पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में रात 8 बजे के बाद कोई भी लड़की या महिला सड़क पर सुरक्षित नही है। कानून व्यवस्था की जिमेदार एलजी की है। एलजी साहब अपना होमवर्क नहीं कर रहे हैं, वो कह रहे हैं कि वो अपने छोटे भाई का होमवर्क करेंगे।