बुरहानपुर। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा आज से मध्य प्रदेश में बुरहानपुर जिले के बोदरली गांव से शुरू हो होकर दरियापुर होते हुए सेंट जेवियर स्कूल जैनाबाद फाटक पहुंची। यहां स्कूल में विश्राम करने के बाद यात्रा फ‍िर आगे बढ़ी। शहर में प्रवेश करने से पूर्व जगह-जगह यात्रा का स्‍वागत हुआ। यात्रा के आगे तिरंगा ध्वज लेकर मध्य प्रदेश आदिवासी कांग्रेस अध्यक्ष ओमकार सिंह मरकाम रहे। राहुल गांधी ने यहां पर नुक्‍कड़ सभा को भी संबोधित किया।

आपको बता दें सभा में राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने केरल से यात्रा कर महाराष्ट्र में प्रवेश किया तो वहां लोगों का अपार जनसमर्थन मिला, महाराष्ट्र ने समर्थन देने में केरल को हराया था और मध्य प्रदेश ने महाराष्ट्र को भी हरा दिया। उन्होंने आगे कहा कि हिंदुस्तान में डर और हिंसा का माहौल है। हमने बहुत कोशिश की और साथ ही साथ जनता, किसान, मजदूर, छोटे व्यापारियों की आवाज राज्यसभा में उठाने का प्रयास किया।

राहुल ने आगे बढ़ते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने नोट बंदी लागू की थी। इसके बाद पांच अलग-अलग गलत जीएसटी लागू कर शेष बचे उद्योग और धंधों को भी चौपट कर दिया। राहुल ने कहा कि मैं अब तक 2,000 किलोमीटर चल चुका हूं, लेकिन अभी थका नहीं हूं।

उन्होंने कहा हिंदुस्तान कौन सा वाला देश नहीं है, लेकिन विपक्ष के लोग डर दिखाकर हिंसा को फैलाते हैं। जब किसानों को आपकी जरूरत होती है तो इंपोर्ट-एक्सपोर्ट की पॉलिसी बदल भी देते हैं। युवाओं को डराने के लिए सबसे पहले नोटबंदी की और जीएसटी भी लागू की जिससे छोटे उद्योग और धंधे जो रोजगार की रीढ़ की हड्डी हैं वे बैठ गए। राहुल गांधी ने आगे कहा कि यात्रा शुरू करने से पहले मुझे कल्पना भी नहीं की थी कि इतना अपार जनसमर्थन और जनता का प्यार इस यात्रा को मिलेगा। उन्‍होंने अग्निवीर भर्ती की परीक्षा पर भी निशाना साधा।

प्रियंका गांधी भी यात्रा में हुई शामिल -

मिली जानकारी के अनुसार इस यात्रा में शामिल होने के लिए प्र‍ियंका गांधी वाड्रा भी इंदौर पहुंच गई हैं। उनके साथ में पति रॉबर्ट वाड्रा व बेटा रेहान वाड्रा भी है। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा बुरहानपुर शहर पहुंचने से पहले ही, यहां सड़कों के दोनों ओर बड़ी संख्या में लोग उनकी एक झलक पाने के लिए खड़े और बेकरार रहे।