रिपोर्ट। मुस्कान

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता आतिशी ने बुधवार को भाजपा पर दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) की कार्यवाही बाधित करने का आरोप लगाया। आप विधायक ने आरोप लगाया कि बीजेपी पार्षद बेंचों पर चढ़ गुंडागर्दी की और उनकी पार्टी पर हंगामा करने का झूठा आरोप लगाया।

सदन में आप और बीजेपी पार्षदों के बीच हुए हंगामे के बाद एलजी द्वारा नियुक्त पीठासीन अधिकारी द्वारा अगले नोटिस तक सदन को स्थगित कर दिया गया था। इस महीने में दूसरी बार मंगलवार को दिल्ली मेयर चुनाव स्थगित कर दिया गया था। आप के पार्षदों, 13 विधायकों और तीन राज्यसभा सांसदों को तत्काल चुनाव की मांग को लेकर सिविक सेंटर में भाजपा के खिलाफ करीब चार घंटे तक धरना देना पड़ा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आप नेता आतिशी ने कहा कि आप पार्षद शांति से बैठे थे और उन्होंने अपनी आवाज भी नहीं उठाई। उन्होंने भाजपा पार्षद पर बेंचों पर चढ़कर नारेबाजी करने और सदन की कार्यवाही बाधित करने का आरोप लगया। इस मामले पर भाजपा की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

भाजपा पर हंगामे की पूर्व योजना बनाने का आरोप लगाते हुए आप नेता ने दावा किया कि उनके पार्षदों ने मुद्रित तख्तियों के साथ सदन के कुएं का घेराव किया। हमारे पार्षदों ने कई वीडियो बनाए और हर वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे भाजपा पार्षदों ने सदन में हंगामा किया। वे मुद्रित तख्तियां भी पकड़े हुए थे, जिसमें कहा गया था कि गुंडागर्दी बंद करो और सदन को चलने दो। यह साबित करता है कि भाजपा ने साजिश रची और सदन को बाधित करने के लिए पूर्व नियोजित एजेंडा था।

आप नेता आतिशी ने पत्रकारों को कई वीडियो दिखाते हुए कहा कि आप का कोई भी पार्षद अपनी सीट से नहीं उठा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने आप पार्षदों पर हंगामा करने का झूठा आरोप लगाया और उन्हें अपने आरोपों को साबित करने के लिए वीडियो दिखाने की चुनौती दी। आप नेता ने कहा कि बीजेपी को कम से कम एक वीडियो दिखाने की चुनौती देना चाहती हूं, जहां यह देखा जा सके कि आप पार्षदों ने अपनी आवाज उठाई या गाली दी या हंगामा किया या सदन की कार्यवाही को बाधित करने के लिए कुछ भी किया।

बता दें कि एमसीडी सदन की पहली बैठक भी छह जनवरी को आप और बीजेपी सदस्यों के हंगामे के बीच स्थगित कर दी गई थी। पिछले साल दिसंबर में हुए एमसीडी चुनाव में आप ने 250 वार्डों में से 134 पर जीत दर्ज की थी। वही बीजेपी ने 104 वार्ड में जीत दर्ज की।