नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनाव को लेकर 'आप' और बीजेपी के बीच जंग छिड़ी हुई है। भाजपा ने दिल्ली के मंत्री गोपाल राय के सहयोगियों और आम आदमी पार्टी के कथित शीर्ष नेताओं पर आगामी नगर निकाय चुनावों में पार्टी के टिकट के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से पैसे लेने में शामिल होने का आरोप लगाते हुए एक 'स्टिंग' वीडियो जारी किया है। जिसपर आम आदमी पार्टी ने पलटवार करते हुए इसे बीजेपी का हार डर बताया।

आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए आप के दिलीप पांडेय ने कहा कि एमसीडी चुनावों के लिए पार्टी के टिकटों की बहुत मांग थी। “ऐसे कई दलाल हैं जो सक्रिय हो गए हैं। दलाल सक्रिय हो गए लेकिन पैसे के दम पर टिकट नहीं दिया गया। बीजेपी ने कुछ नहीं किया। आप भाजपा या कांग्रेस नहीं है जहां पैसे देने वालों को टिकट बांटे जाते हैं। बीजेपी रोजाना जो फर्जी स्टिंग ऑपरेशन ला रही है, उससे पता चलता है कि बीजेपी बहुत बुरी तरह से चुनाव हार रही है। 

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने स्टिंग वीडियो चलाकर एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि आप और उसके प्रमुख अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार में गहराई से शामिल हैं। पात्रा ने आरोप लगाया कि वीडियो कथित तौर पर आप की पूर्व कार्यकर्ता बिंदू द्वारा शूट किया गया था, जो एमसीडी चुनाव में रोहिणी डी वार्ड से आप के टिकट के लिए 80 लाख रुपये की मांग कर रही थी। पात्रा ने दावा किया कि वीडियो में देखा जा सकता है कि बिंदु उत्तर पश्चिम दिल्ली के लोकसभा प्रभारी आरआर पठानिया और रोहिणी विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी समन्वयक पुनीत गोयल सहित आप के कुछ कथित नेताओं के साथ पैसे के भुगतान पर कथित तौर पर चर्चा कर रही है। पात्रा ने दावा किया, 'पठानिया और गोयल सहित इन नेताओं के आप की पांच सदस्यीय समिति से संबंध हैं, जो टिकट वितरण से जुड़ी थी। आप मंत्री गोपाल राय, विधायक दुर्गेश पाठक, सौरभ भारद्वाज और आतिशी के साथ-साथ आदिल खान इसके सदस्य हैं।