बागेश्वर धाम के पीठाधीश पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ शिकायत करने वाले अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति (नागपुर) के श्याम मानव के खिलाफ भी रायपुर कोर्ट में परिवाद दायर किया गया है। बता दें कि अधिवक्ता विराट वर्मा ने न्यायाधीश ओपी साहू की अदालत में मामला दर्ज करवाया है।

उन्होंने इसमें कहा है कि श्याम मानव ने धार्मिक भावनाओं को आहत कर उन्हें ठेस पहुंचाया है। श्याम ने इंटरनेट मीडिया के माध्यम से पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ अपत्तिजनक टिप्पणी भी की है। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बारे में जब हमने शहर के पंडित, पुजारी और संतों से बात की तो ज्यादातर पंडित धीरेंद्र शास्त्री के समर्थन में नजर आए।

उनकी सिद्धी पर बोलने का हमें अधिकार नहीं -

बता दें कि महामाया मंदिर के पुजारी मनोज शास्त्री ने कहा कि जिस क्षेत्र का हमें ज्ञान न हो उस क्षेत्र के बारे में बोलना महामूर्खता है। यह उनकी सिद्धी भी हो सकती है, लेकिन हमें उस बारे में कोई जानकारी नहीं है। हम सिर्फ पूजा-पाठ जानते हैं और उसके बारे में ही कुछ बता सकते हैं। उन्होंने कहा कि आपकी पत्रकारिता के बारे में कुछ बोलना हमारी मूर्खता होगी, क्योंकि हमें पत्रकारिता के बारे में कुछ भी नहीं पता है।

हनुमानजी की कृपा है, इससे वामपंथी चिढ़ रहे हैंं -

वहीं धर्मसंघ पुरोहित परिषद के प्रदेश अध्यक्ष पंडित वीरेन्द्र शुक्ला ने कहा कि पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर हनुमानजी की कृपा है। वो जादू, टोना और टोटका जैसा कुछ नहीं करते, न ही करने के लिए कहते हैं। धीरेंद्र शास्त्री विशुद्ध रूप से हनुमान जी के कृपा पात्र हैं, उन्हीं की शक्ति के भरोसे वे काम कर रहे हैंं। चमत्कार करना कोई जादू, टोना, टोटका नहीं है, चमत्कार का मतलब होता है आनंदमय, विलक्षण शक्ति।

हनुमानजी के अंदर विलक्षण शक्ति है, और वो कुछ भी कर सकते हैं। हिंदुत्व और सनातन धर्म को बढ़ते देख वामपंथी विचारधारा के लोग चिढ़ रहे हैंं, और इसे अंधविश्वास बता रहे हैंं। यह हिंदुत्व और सनातन धर्म की जीत है। वामपंथी विचारधारा के लोग प्रोपेगंडा (अधिप्रचार) कर हिंदुत्व और सनातन धर्म को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। इसका हम सब सनातनियों को मिलकर विरोध करना होगा।

हर हिंदू को होना चाहिए धीरेंद्र शास्त्री जैसा -

बता दें कि संत महासभा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी राजेश्वरानंद ने कहा कि अपने धर्म के प्रति हर हिंदू को धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की तरह होना चाहिए। हर हिंदू धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की तरह अपने धर्म के बारे में सोचने लगे, उसके प्रचार-प्रसार में लग जाए तो जल्द ही देश हिंदू राष्ट्र बन जाएगा।

हम उनके कार्यों से पूरी तरह से सहमत हैं। उन्होंने कोई चमत्कार नहीं किया। यह सच है कि भगवान के प्रति श्रद्धा रखने से कल्याण होता है। हमारे सनातन धर्म मेें बहुत सी खूबियां हैं, जिन्हें वामपंथी विचार धारा के लोग गलत ठहराते हैं।