मध्य प्रदेश। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार दोपहर एक दिवसीय प्रवास पर सिंगरौली हवाई अड्डे पर पहुंचे। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनका स्वागत किया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 408 करोड़ रूपए के निमार्ण कार्यो का करेंगे शिलान्यास। सिंगरौली में मध्य प्रदेश के आवासीय भू- अधिकार योजना में जिले की पंचायत क्षेत्रों की 25 हजार 412 हितग्राहियों को भूखंड के पट्टे बाटें। इस मौके पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी उपस्थित रहे।

मध्य प्रदेश CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज 421 एकड़ जमीन प्रदेश के गरीबों में बांटी जा रही है, यही सामाजिक न्याय है। राशन प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत मिल रहा है। अब सरकार मेधावी बच्चों को पढ़ाने की फीस देगी। जिनकी सालाना आय 8 लाख तक है उनके बच्चों की फीस सरकार भरेगी। अंग्रेजी लाद दो ताकि बड़े लोगों के बच्चें बड़े पदों पर हों। अंग्रेजी कोई योग्यता का प्रमाण नहीं है, योग्यता किसी भी भाषा में हो सकती है। मध्य प्रदेश ने तय किया कि राज्य में उच्च शिक्षा की पढ़ाई हिंदी में होगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि अंग्रेज तो चले गए मगर कांग्रेस ने अंग्रेजी हमारे सिर पर डाल दिया, उच्च शिक्षा अंग्रेजी में होगी। गरीब किसान का बेटा-बेटी क्या अंग्रेजी जानता है? ये षडयंत्र था कि अगर हिंदी में हो गई तो गरीब के बच्चें भी आगे बढ़ जाएंगे। सिंगरौली से ही रीवा संभाग के चार जिलों के किसानों के खाते में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की राशि भी सिंगल क्लिक से अंतिरक की जाएगी। वही आपको बता दें कि सिंगरौली में मेडिकल कॉलेज, माइनिंग, इजिनियरिंग कॉलेज और सीएम राइज हिर्रवाह एंव चकारिया का शिलान्यास भी होगा।

सिंगरौली में एक कार्यक्रम में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज 27,000 से अधिक परिवारों को CM ने भूमि आंवटित किया है। अगर CM गरीबों के कल्याण के प्रति प्रतिबद्ध नहीं होते तो ये काम नहीं होता। नेताओं ने प्रलोभन देकर जनता का समर्थन हासिल किया है। मगर BJP जो कहती है, उसे करती है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है। आज हम दुनिया की पाँचवी सबसे बड़ी अर्थव्यस्था बन गये है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि 2047 तक हमारा भारत दुनिया का सबसे धनवान देश बनेगा। उन्होंने आगे कहा कि पहले हमारे देश में 3 या 4 किमी रोजना सड़क बनती थी। लेकिन BJP की सरकार बनने के बाद आज भारत में प्रतिदिन 37 किमी सड़क का निर्माण हो रहा है। पहले रक्षा से जुड़े हथियार आयात होते थे, लेकिन अब हथियार भारत में बनाने का फैसला हमने लिया है।