रिपोर्ट। मुस्कान

नई दिल्ली। दिल्ली के वन और वन्यजीव विभाग ने जी20 सम्मेलन से पहले दो प्रमुख हिस्सों यानी सरदार पटेल मार्ग और वंदे मातरम मार्ग को सुशोभित करने के लिए पौधों, पेड़ों और लताओं की खरीद शुरू कर दी है। अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि विभाग ने दो सड़कों के लिए अल्पकालिक निविदाएं आमंत्रित की हैं, जिसमें 5,000 से अधिक लताएं और फूलों के पेड़ लगाए जाने हैं।

अधिकारियों ने बताया कि यह योजना शहर भर में शुरू की जा रही एक व्यापक सौंदर्यीकरण परियोजना का हिस्सा है। जो फरवरी से शुरू होकर सितंबर में होने वाली शिखर बैठक तक जी20 से संबंधित बैठकों की मेजबानी करेगी। इसके तहत खरीदे जा रहे पौधों में विभिन्न रंगों के 1,000 बोगेनविलिया के पौधे, 1,000 कचनार के पेड़ (बौहिनिया ब्लाकेना) साथ ही 3,000 लताएँ जैसे गोल्डन शावर (बिग्नोनिया वेनस्टा), मधुमालती (क्विस्कलिस इंडिका) पेर्डा बेल, वर्नोनिया एलाएग्निफोलिया, जापानी शहद चूसनी (पैसिफ्लोरा केरुलिया) और विस्टेरिया (सिनेंसिस) शामिल है।

इस महीने की शुरुआत में विभाग ने ग्रेड 1 वर्जिन प्लास्टिक के 400000 गमलों की खरीद के लिए एक निविदा जारी की थी। जिसका उपयोग मध्य दिल्ली में पत्ते और फूलों के पौधे लगाने के लिए किया जाएगा। गमलों में लगे पौधों का उपयोग कहां होगा, यह विभाग अभी तय नहीं कर पाया है।

अधिकारी ने बताया कि इस खंड पर कुछ बर्तनों का इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इनके तैयार होने के बाद अंतिम योजना बनाई जाएगी। जहां गमलों के लिए 21 करोड़ रुपये अलग रखे गए है। वहीं पौधों की खरीद के लिए कोई लागत तय नहीं की गई है।