भारत को ड्रग्स के दलदल में धकेलने की योजना को दिल्ली पुलिस ने नाकाम कर दिया है। एक गुप्त सूचना के आधार पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुंबई के नवा शेवा बंदरगाह से 20 टन हेरोइन जब्त की है। यह दिल्ली पुलिस द्वारा जब्त की गई हेरोइन की अब तक की सबसे बड़ी खेप है। नशे की इस खेप की बाजार कीमत करीब 1725 करोड़ रुपये आंकी गई है।

इतनी बड़ी मात्रा में ड्रग्‍स देखकर पुलिस भी दंग रह गई। सबसे बड़ा सवाल यह है कि हेरोइन की इतनी बड़ी खेप नवा शेवा के बंदरगाह तक कैसे पहुंची? ड्रग माफिया के बड़े खेल को दिल्ली पुलिस ने नाकाम कर दिया है। पुलिस को नशीला पदार्थ की एक बड़ी खेप के भारत आने की गुप्त सूचना मिली थी। इसके बाद स्पेशल सेल की टीम ने नवा शेवा पोर्ट से एक कंटेनर जब्त किया। जब इसकी जांच की गई तो पुलिस के भी होश उड़ गए।

वहीं स्पेशल सीपी एचजीएस धालीवाल ने कहा, "जब्त की गई हेरोइन का कुल मूल्य लगभग 1,725 ​​करोड़ रुपये है। कंटेनर को दिल्ली ले जाया गया था। यह जब्ती साफ दिखाती है नार्को टेरर हमारे देश को कैसे प्रभावित कर रहा है और अंतरराष्ट्रीय प्लेयर्स हमारे देश में ड्रग्स को धकेलने के लिए विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं।" 

 

बता दें कि इससे पहले सितंबर, 2021 में राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) द्वारा गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 3,000 किलोग्राम वजन और 21,000 करोड़ रुपये मूल्य की ड्रग्स की खेप बरामद की गई थी। इसके ठीक एक साल बाद बड़े पैमाने पर मुंबई के न्हावा शेवा पोर्ट से नशीली दवाओं की बरामदगी हुई है।