तेलंगाना में कृषि को बढ़ावा देने के लिए सीएम केसीआर ने एक बड़ा कदम उठाया था। जिसका उद्देश्य था किसानों को खेती करने के लिए सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराना। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इस ओर पहल की और साल 2018 में रायतू बंधु योजना की शुरुआत की।

इस योजना के तहत केसीआर सरकार राज्य के किसानों को यासंगी यानी रबी और वनकलम यानी खरीफ दोनों ही मौसमों के लिए किसानों को कुल 10,000 रुपये की आर्थिक मदद देती है। रायतू बंधु योजना से किसानों को बहुत लाभ मिला है। इस योजना के तहत केसीआर सरकार छोटे किसानों को आर्थिक मदद प्रदान करती है।

जिससे उन्हें खेती करने में आसानी हो और वो बीज, उर्वरक के साथ मजदूरी का खर्चा उठा सकें। किसानों ने सरकार की इस योजना पर खुशी जताई है। उनका कहना है कि रायतू बंधु योजना से हमें बहुत आर्थिक मदद मिली है। आपको बता दें कि किसानों को कुल मिलाकर 8000 रुपए की मदद का प्रावधान था लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर दस हजार कर दिया गया।

तेलंगाना सरकार की रायतू बंधु योजना का कुल बजट 120 अरब रुपए है। इस योजना की सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसके जरिए किसानों के खातों में पैसा सीधे ट्रांसफर किया जाता है। तेलंगाना सरकार की इस रायतू बंधु योजना का लाभ लेने के लिए किसानों के पास अपनी खुद की जमीन होना जरूरी है।

तेलंगाना सरकार इसकी दसवीं किश्त जारी करने जा रही है। राज्य सरकार की ओर से जारी 9 किश्तों में 58,000 करोड़ रुपये जमा किए जा चुके हैं। वहीं दसवीं किश्त में तेलंगाना सरकार 7,600 करोड़ रुपये का फंड जारी करेगी। तेलंगाना सरकार की इस योजना की संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी तारीफ की है।