दिल्ली के जामा मस्जिद में प्रशासन ने आदेश जारी कर अकेली या समूह में आने वाली लड़कियों- महिलाओं के प्रवेश में रोक लगा दी है। इसी आदेश पर लोग अलग- अलग तरीके से ले रहे है। आपको बता दे कि वहीं दूसरी तरफ इसी मुद्दे को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवान ने इस फैसले पर विऱोध जताया है। स्वाती मालीवाल ने इस मुद्दे पर ट्वीट कर कहा कि जितना अधिकार एक पुरूष को इबादत का है उतना ही एक महिला को भी। उन्होने कहा कि मै जामा मस्जिद के इमाम को नोटिस जारी कर रही हूं, इस तरह महिलाओं की एंट्री बैन करने का अधिकार किसी को नहीं है।

 

जामा मस्जिद के PRO सबीउल्लाह खान ने कहा, जो अकेली लड़कियां यहा आती है वीडियो बनाती है इसपे रोक लगाई गई है अगर आप अभी .यहां चारों तरह देखे तो महिलाएं मौजूद है उन्होने कहा कि आप परिवार वालों के साथ आएं कपल आएं कोई रोक टोक नहीं है पर यहा किसी को समय देना मीटिंक पॉइंट बनाना पार्क बनाना ये किसी भी धर्म स्थल के लिए नहीं है चाहे वो मंदिर हो या मस्जिद। उन्होने कहा कि "अकेली लड़कियों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। यह एक धार्मिक स्थल है, इसे देखते हुए निर्णय लिया गया है। इबादत करने वालों के लिए कोई रोक नहीं है।" 

 

और पढ़े...

गलवान को लेकर ऋचा चड्ढा ने किया सेना का अपमान, भाजपा ने साधा निशाना