देश आज अपना 74वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। चारों ओर देश भक्ति का माहौल है। लेकिन खुशी के बीच बिहार से एक ऐसी खबर आई जिसने सभी को हैरान कर दिया है। बुधवार की रात को बिहटा-आरा राष्ट्रीय राजमार्ग-30 पर भीषण सड़क हादसा हुआ है। दरअसल तेज रफ्तार से आ रही एक स्कार्पियो ने पैदल जा रहे लोगों को रौंद दिया।

एक ही परिवार के पांच लोग रास्ते में चल रहे थे तभी स्कार्पियो ने इन्हें टक्कर मार दी। हादसे में एक महिला और मासूम बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं 3 लोग घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद पीएमसीएच रेफर कर दिया गया।

एक्सीडेंट के बाद आरोपी वाहन चालक अपनी गाड़ी छोड़ कर घटनास्थल से फरार हो गया। सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। वहां पर मौजूद लोगों का पुलिस पर गुस्सा फुटा और लोगों ने डायल 112 की गाड़ी क्षतिग्रस्त कर दिया। थानाध्यक्ष सनोहर खान ने बताया कि आरोपी का वाहन जब्त कर उसकी पहचान की जा रही है।

आपको बता दें कि एक ही परिवार की महिलाएं और बच्ची शॉपिंग के लिए परेव बाजार गई थीं। मार्केटिंग के बाद वो घर लौच रही थीं। तभी अचानक स्कार्पियो ने उन्हें टक्कर मार दी। लक्ष्मणपुर बेला गांव निवासी मिथिलेश राय की पत्नी सुभांती देवी और राजेंद्र राय की 2 साल की बेटी भूरी कुमारी मृर्तकों में शामिल हैं।

दूजा देवी एवं आरती और सुंदर की पहचान घायलों के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि स्कार्पियो चालक फुल स्पीड में ड्राइव कर रहा था। अचनाक बैलेंस बिगड़ने से ये हादसा हुआ। स्कार्पियो चालक ने एनएच पर खड़े ट्रक में टक्कर मार दी, जिसके बाद बैलेंस बिगड़ने से स्कार्पियो ने सामने से पैदल आ रहे लोगों को रौंद दिया।