रिपोर्ट। मुस्कान

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने छत्रसाल स्टेडियम में गणतंत्र दिवस समारोह से पहले आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। उन्होंने यहां जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज जब हम 74वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। तो पिछले एक साल में कई खाने-पीने की चीजों पर जीएसटी लगा और ये सभी चीजें महंगी हो गई हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि केंद्र सरकार इनसे जीएसटी हटाएगी और देश की जनता को राहत देगी। जीएसटी को इतना मुश्किल बना दिया गया है कि कई कारोबारी परेशान हैं, लोग नहीं समझते। उन्होंने कहा कि मैं अभी तेलंगाना गया था, वहां के सीएम ने मुझे फोन किया। मैंने देखा कि वहां की सरकार चार करोड़ लोगों की आंखों की जांच करा रही है। जिन्हें चश्मे की जरूरत होगी उन्हें सरकार चश्मा देगी और जिन्हें ऑपरेशन की जरूरत है उनका ऑपरेशन मुफ्त में करवाएगी। इसे दिल्ली में भी कराया जाएगा। दिल्ली के लोगों को आंखों की जांच, ऑपरेशन और अन्य सुविधाएं मुफ्त में मुहैया कराई जाएंगी। पंजाब के सीएम भी ऐसा करने जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें एक-दूसरे से ऐसे ही सीखने की जरूरत है। अगर हम सीख लें तो देश की सारी समस्याएं हल हो जाएंगी। सीखने के बजाय हम लड़ने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली देश की स्टार्टअप राजधानी बन गई है। पिछले साल दिल्ली में 5000 स्टार्टअप शुरू हुए। देश में दिल्ली कर्नाटक से भी ज्यादा ई-वाहनों वाला शहर बन गया है। देश में सबसे ज्यादा पेड़ दिल्ली में हैं। दिल्ली देश की शिक्षा राजधानी बन चुकी है और देश के टॉप दस स्कूलों में से पांच दिल्ली के हैं।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली स्वास्थ्य राजधानी बन गई है। दिल्ली में प्रति 1000 लोगों पर 3 डॉक्टर हैं, जो अमेरिका से भी ज्यादा है। दिल्ली में 2.5 लाख सीसीटीवी लगाए गए, जो इंग्लैंड से ज्यादा है। सीएम ने आगे कहा कि चीन का बहिष्कार करना प्रत्येक भारतीय का कर्तव्य है। इसके बजाय चीन के साथ व्यापार में 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि एक तरफ हमारे जवान सीमा पर बहादुरी से चीन का सामना कर रहे हैं और दूसरी तरफ इस लड़ाई में उनका साथ देना हमारा फर्ज है। चीन का बहिष्कार करना और उन्हें कड़ा संदेश देना हमारा कर्तव्य है।

केजरीवाल ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि दिल्ली में महंगाई दर सबसे कम है। सबसे सस्ती चीजें दिल्ली में हैं। बिजली पानी मुफ्त है। उत्कृष्ट सरकारी स्कूल हैं और स्कूलों में शिक्षा मुफ्त है। डिस्पेंसरी में इलाज मुफ्त है। राशन मुफ्त है। तीर्थ यात्रा पर महिलाओं के लिए यात्रा और बस सेवा निःशुल्क हैं।