मध्य प्रदेश के खंडवा में भाजपा पार्षद पवन गोस्वामी पर मोघट पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर लिया है। पार्षद पवन गोस्वामी की पिटाई से कांग्रेस नेता की पत्नी की मौत हो गई थी। महिला पूर्व पार्षद कांग्रेस नेता की पत्नी और आरोपी पार्षद पवन गोस्वामी की काकी है। पुलिस प्रकरण दर्ज होने के बाद अब आरोपी की तलाश में जुट गई है।

ज्ञात हो कि सिंधी कालोनी में तीन जनवरी की रात में वार्ड क्रमांक 37 के भाजपा पार्षद पवन गोस्वामी ने अपने काका कांग्रेस नेता पूर्व पार्षद प्रकाश गोस्वामी (63 वर्ष) से विवाद किया था। जानकारी के अनुसार घूरकर देखने की बात पर से हुए इस विवाद में आरोप है कि पवन ने अपने काका और काकी पूनम गोस्वामी (57 वर्ष) के साथ मारपीट की और दोनों को बेरहमी से पीटा था। वहीं आरोपी पार्षद ने काकी पूनम को घसीटते हुए मारपीट की, जिससे उनकी कमर की हड्डी टूट गई थी।

पूनम गोस्वामी के शरीर की हड्डियां जगह-जगह टूटने से हालत गंभीर बनी हुई थी। सिंधी कालोनी में एक निजी अस्पताल में उनका उपचार किया गया। बता दें कि कूल्हे की हड्डी टूटने पर उनका बड़ा ऑपरेशन हुआ था और इस तरह से दो बार ऑपरेशन किया गया। पवन पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था। इसी बीच 21 जनवरी को पूनम गोस्वामी की मौत हो गई।

पुराना विवाद चल रहा था -

पवन और जय दोनों पड़ोसी हैं। जय के पिता कांग्रेस से पूर्व पार्षद हैं और पवन गोस्वामी वर्तमान में वार्ड क्रमांक 37 से भाजपा समर्थित पार्षद है। आपस में दोनों रिश्तेदार भी हैं और पुराने किसी घरेलू विवाद को लेकर मारपीट हुई थी।

थाने के सामने शव रखकर किया गया था चक्का जाम -

बता दें कि 21 जनवरी को पूनम गोस्वामी की मौत हो गई थी। इसके बाद शव को मोघट थाना के सामने रखकर चक्काजाम कर प्रदर्शन करने वालों में मृतका के परिजन, रिश्तेदार समेत कांग्रेस नेता इंदल सिंह पवार सहित अन्य नेताओं ने विरोध प्रदर्शन किया था। यहां पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की गई थी।

विवेक सिंह, पुलिस अधीक्षक -

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार में भाजपा पार्षद पवन गोस्वामी पर हत्या की धारा 302 में कार्रवाई की गई है।