घटना मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर के मुस्लिम बहुल क्षेत्र रद्दी चौकी के अंतर्गत आने वाले मक्का नगर की है, जहां एक मकान नुमा कारखाने में मंगलवार की सुबह करीब 11:00 बजे के आसपास आग लग गई। जिसमें मां बेटी जिंदा जल गई। आग लगने की इस घटना से रहवासी क्षेत्र में हड़कंप मच गया और लोग इधर-उधर भागने लगे। वहीं क्षेत्रीय नागरिक अपने-अपने स्तर पर आग बुझाने की कोशिश करते रहे।

आनन-फानन में घटनास्थल पर मौजूद लोगों द्वारा नगर निगम के दमकल विभाग को सूचना दी गई। घटना की सूचना मिलते ही नगर निगम के 5 दमकल वाहन घटनास्थल के लिए रवाना किए गए। करीब 2 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। लेकिन तब तक सारा सामान जलकर खाक हो चुका था और मां-बेटी की आग से झुलसकर मौत हो चुकी थी।

नगर निगम के दमकल विभाग के अनुसार सुबह करीब 11:10 पर आग लगने की सूचना मिली और तत्काल ही पहले 3 और फिर बाद में 2 दमकल वाहन रवाना किए गए। बताया जा रहा है कि आग मक्का नगर हनुमानताल गली नंबर सात में पक्के मकान में लगी थी। घटना के वक्त मकान में नगीना (25 वर्ष) और उसकी बेटी हिना (6 वर्ष) मौजूद थी। वे दोनों आग की लपटों के बीच घिर गईं और बुरी तरह से झुलस गई।

आग ने उन्हें देखते ही देखते अपनी चपेट में ले लिया जिससे उनकी मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार मृतिका के पति ने रजाई गद्दे का कारखाना घर की पहली मंजिल पर खोल रखा था। जिससे आग तेजी से फैली और आग की लपटों में पूरा घर घिर गया।

रास्ता संकरा होने की वजह से आग पर काबू करने में काफी दिक्कत हुई। वहीं घटनास्थल पर लोगों की भीड़ भी लगी रही। नगर निगम दमकल शाखा के अनुसार आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। वहीं पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है।

जल्द पहुंचे दमकल के वाहन -

आग लगने की खबर मिलते ही दमकल विभाग द्वारा दमकल वाहन भिजवाए गए थे। जिसके चलते समय रहते आग पर नियंत्रण पा लिया गया वरना आग और फैल सकती थी।