दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) सदन की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थागित कर दी गई। मंगवार को हुई एमसीडी की दूसरी बैठक में भी मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव नहीं हो पाया है। इससे पहले सदन की बैठक में मनोनीत पार्षदों को शपथ ग्रहण कराई गई थी। जिसका आम आदमी पार्टी ने कड़ा विरोध किया था।

जानकारी के मुताबिक, आम आदमी पार्टी (आप) का एक पार्षद जैसे ही निगम सचिव से बात करने के लिए मंच पर पहुंचा तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पार्षदों ने इसका कड़ा विरोध करते हुए आपत्ति जताई। इसके बाद सदन में आप और भाजपा के पार्षदों के बीच हंगामा शुरू हो गया। जिसके बाद सदन की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थागित कर दिया गया और आज होने वाला मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव फिर से नहीं हो पाया।

इससे पहले आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने मनोनीत सदस्यों को सदन से बाहर करने की मांग की थी। आप पार्षदों को कहना है कि मनोनीत सदस्यों के सदन से बाहर जाने के बाद ही मेयर का कराया जाए। इसके बाद सदन की कार्रवाई को कुछ देर के लिए स्थागित कर दी गई थी।

सदन में लगे जय मोदी के नारे

एमसीडी सदन की बैठक में जय भाजपा, तय भाजपा और जय मोदी के नारे लगाए गए है। यह नारे उस दौरान लगाए गए जब वार्ड पार्षदों को शपथ दिलाई जा रही थी। बीजेपी पार्षदों के नारेबाजी करने के बाद सदन में हंगामा बढ़ गया है। बता दें कि पार्षदों के शपथ ग्रहण के बाद  लंच ब्रेक हुआ और इसके बाद ही मेयर का चुनाव होना था।

वहीं शकीला बेगम ने सदन में पार्षद की शपथ ग्रहण करने के बाद जय श्री राम की जगह, जय सियाराम का नारा लगाने की सलाह दी। इसके बाद सदन में दोनों पार्टी के बीच थोड़ी बहुत नोकझोंक देखी गई।

मंगलवार को एमसीडी को पहली ट्रांसजेंडर पार्षद शपथ ग्रहण की। बॉबी किन्नर ने जैसे ही सदन में शपथ ग्रहण की तो उनकी काफी सराहना की गई। दिल्ली के सुल्तानपुरी वार्ड से पहली बार कोई ट्रांसजेंडर चुनाव जीतकर सदन में पहुंची है।