हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा की तहसील फतेहपुर की पंचायत की सुर्खियों में ही रहती हैं। चाहे यहां अवैध माइनिंग की बात कर ली जाए क्या है यहां अवैध शराब की बात कर ली जाए  जहां कुछ और यह समस्याएं तो लोगों को तंग परेशान कर ही रही थी अब एक किसान वर्ग के लिए नई समस्या उत्पन्न हो गई है।

पहले तो किसानों को क्रेशर  उद्योग स्थापित होने से जलस्तर नीचे जा रहा था अब फसलों को भयंकर बीमारी/महामारी से ग्रस्त होते देखा जा रहा है बता दें कि किसान संघर्ष सेवा समिति के सचिव विजय कुमार द्वारा एक मुद्दा उठाया गया है जिसमें की रियाली के इर्द-गिर्द पंचायतों में धान की फसल को भयानक बीमारी लग चुकी है जिसके कारण धान की फसल नष्ट हो रही है जिसके चलते किसान संघर्ष सेवा समिति द्वारा सरकार के नुमाइंदों से संपर्क किया जा रहा था लेकिन किसी से किसी भी प्रकार का कोई अभी तक रिस्पांस प्राप्त नहीं हुआ था जिस  से यहां के लोग सरकार की नीतियों से काफी खफा थे।

जिसके चलते किसान संघर्ष सेवा समिति के सचिव श्री विजय कुमार जी ने स्थानीय विधायक श्री भवानी पठानिया जी से संपर्क किया और उन्हें अपने क्षेत्र में आने के लिए अनुरोध किया विधायक भवानी पठानिया जनहित के कार्यों को करने के लिए हमेशा तत्पर तैयार रहते हैं ।

किसान संघर्ष सेवा समिति के सचिव विजय कुमार जी के अनुरोध को स्वीकार करते हुए विधायक भवानी पठानिया रियाली के विभिन्न वार्डों में गए और किसानों से मिले साथ ही किसान संघर्ष समिति के द्वारा एक मांग पत्र भी सौंपा गया जिसमें अंकित है  कि जिन किसान भाइयों की महामारी के कारण फसल पूरी तरीके से नष्ट हो गई है उन किसान भाइयों को सरकार की तरफ से उचित मुआवजा दिया जाए साथ ही इस मांग पत्र में यह भी अंकिता की सितंबर माह से फसल की रजिस्ट्रेशन की जाए

और एक नवंबर से धान की फसल की खरीद शुरू की जाए क्योंकि अब धान की फसल पककर तैयार हो रही है और मंडी करने  के लिए पंचायत रियाली में स्थाई मंडी तैयार हो चुकी है। जिसे शुरू करने के लिए विधायक भवानी पठानिया के समक्ष मांग पत्र दिया गया है विधायक महोदय ने कहां है कि जल्द से जल्द आपकी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करुंगा। आपने मुझ पर विश्वास दिखाया है अब समय है कि मैं आप लोगों के काम आ सकूं। मीडिया को जानकारी देते हुए विधायक भवानी पठानिया ने बताया कि हमारे क्षेत्र में बहुत सारे कार्य करने बाकी हैं लेकिन विपक्ष की सरकार होने के नाते सरकार विधानसभा क्षेत्र फतेहपुर से  परायपान का व्यवहार कर रही है बहुत सारी योजनाएं हमारी नाबार्ड के अंतर्गत लंबित पड़ी हैं और किसी भी योजना व परियोजना को नाबार्ड से स्वीकृति नहीं मिली है फिर भी मैं कोशिश करता रहूंगा कि आप लोगों की सेवा में तैयार रह सकूं।