मध्यप्रदेश। घटना मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की है जहां सटोरिए को पकड़कर ला रही बागचीनी थाने की पुलिस टीम पर सोमवार रात को लोंगट गांव के दर्जनों लोगों ने घेर कर हमला बोल दिया। इस हमले में थाना प्रभारी सहित चार पुलिस कर्मी घायल हो गए।

भीड़ ने पुलिस की टीम पर पहले पथराव किया, इसके बाद फायरिंग भी की। हमले के बाद आरोपित सटोरिए को छुड़ा ले गए। घायल पुलिस कर्मियों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस की टीम आरोपित सटोरिए व हमलावरों की तलाश कर रही है। मगर गांव से अधिकतर लोग रात में ही गायब हो गए है।

अब पुलिस सटोरिए के घर पर बुलडोजर चला रही है। मिली जानकारी के अनुसार बागचीनी थाना प्रभारी बलवीर सिंह सहित पांच पुलिसकर्मियों ने लोंगट गांव में सटोरिया सुखलाल के घर पर सोमवार रात को दबिश दी और उसे धर दबोचा।

पुलिस टीम जब सुखलाल को लेकर थाने के लिए निकली तो गांव के बीच में दर्जनों ग्रामीणों ने पुलिस टीम को घेर लिया और सटोरिए को छुड़ाने के लिए पथराव करना शुरू कर दिया। हालांकि पथराव से बचकर पुलिस सटोरिए को लेकर निकलने लगी। तभी हमलावरों ने पुलिस टीम पर फायरिंग भी करना शुरू कर दिया।

हमले में थाना प्रभारी बलवीर सिंह सहित सभी पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसी दौरान माैका पाकर हमलावर सटोरिया सुखलाल को लेकर फरार हो गए। सूचना मिलने के बाद और पुलिस बल गांव में पहुंचा और घायल पुलिसकर्मियों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। हमले के बाद पुलिस आरोपित सटोरिया सहित हमलावरों को तलाश रही है। लेकिन ज्यादातर हमलावर गांव से गायब हैं।

सटोरिए के घर पर प्रशासन चला रहा बुलडोजर -

हमले के बाद पुलिस कर्मचारियों व प्रशासन में आक्रोश है। साथ ही अमला जेसीबी लेकर लोंगट गांव पहुंच गया है और सटोरिया सुखलाल के घर पर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।