मधेपुरा, बिहार: आपने परीक्षा के दौरान नकल के लिए पुर्जे, ब्लूटूथ आदि लेकर परीक्षार्थियों को परीक्षा हॉल में पकड़ाते हुए तो जरूर सुना होगा. अब हम बता रहे हैं कि कैसे बिहार के मधेपुरा जिले के सबसे प्रतिष्ठित टीपी कॉलेज में पीजी सेकंड सेमेस्टर के छात्र परीक्षा देने के लिए मोबाइल साथ में लेकर जाते हैं. जरूरत पड़ने पर नकल भी करते हैं और कमरे में अंधेरा होने पर मोबाइल की रौशनी में परीक्षा भी देते हैं.

मामला बीते सोमवार का है. जब बारिश के दौरान बिजली गुल हुई और परीक्षा कक्ष में अँधेरा छा गया. जिसके बाद परीक्षार्थी अपना मोबाइल निकाले और उसकी रौशनी जला कर परीक्षा देना शुरू किया. इसका फोटो किसी परीक्षार्थी ने ही वायरल कर दिया.

परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों की सघन जांच किए जाने की बात कही जाती है. ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि आखिर कैसे इतने सारे परीक्षार्थी अपना-अपना मोबाइल लेकर परीक्षा हॉल में प्रवेश किए. यह जांच के नाम पर खानापूर्ति किए जाने जैसा प्रतीत होता है.

इधर फोटो वायरल होने के बाद कॉलेज के प्रिंसिपल ने सोमवार को हुई परीक्षा को रद्द कर दिया.  कॉलेज के प्राचार्य का कहना है कि सोमवार को यहां पीजी सेकंड सेमेस्टर की आंतरिक परीक्षा चल रही थी. तभी बारिश के दौरान आंधी के कारण अचानक से बिजली गुल हो गई. इसके बाद कमरे में वीक्षक ऑपरेटर को जेनेरेटर चालू करने को कहने के लिए ऊपर चली गई. इसी बीच परीक्षार्थी बैग से मोबाइल निकाल कर रौशनी जलाए और लिखने लगे. उन्होंने बताया कि इस मामले में वीक्षक से भी शो-कॉज पूछा गया है.