रिपोर्टर-कपिल चीमा, भरतपुर

भरतपुर। लंबे इंतजार के बाद बुलाई गई नगर निगम की साधारण सभा की बैठक कोरम के अभाव में स्थगित करनी पड़ गई। नगर निगम के 65 पार्षदों में से लगभग डेढ़ दर्जन पार्षद ही बैठक में मौजूद थे और कोरम पूरा नहीं होने के कारण मेयर अभिजीत कुमार ने पहले तो एक घंटे कोरम के पूरा होने का इंतजार किया लेकिन जब पार्षद बैठक में नहीं पहुंचे तो आखिर में उन्हें बैठक स्थगित करने की घोषणा करनी पड़ी।

नगर निगम की साधारण सभा की बैठक दोपहर 2 बजे निगम सभागार में आयोजित होनी थी लेकिन अधिकांश पार्षद सभागार के बाहर ही जमा रहे और नगर निगम प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे,लेकिन बैठक में शामिल नहीं हुए। भरतपुर नगर निगम में कांग्रेस का बोर्ड है लेकिन पार्षदों द्वारा किए गए विरोध में भाजपा ही नहीं कांग्रेस के भी कई पार्षद शामिल हुए। उल्लेखनीय है कि पार्षदों द्वारा काफी समय से नगर निगम की साधारण सभा की बैठक बुलाने के लिए कई बार में मेयर व आयुक्त को ज्ञापन दिए गए थे और आज जब बैठक बुलाई गई तो अधिकांश पार्षदों ने बैठक से किनारा कर लिया।

बैठक का विरोध करने वाले पार्षदों का कहना था कि बैठक के एजेंडे में भरतपुर के विकास और जनता के कार्यों का कोई भी हवाला नहीं था और इसीलिए उन्हें बैठक का बहिष्कार करना पड़ा है। नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष रूपेंद्र सिंह जघीना, पार्षद श्यामसुंदर गौड़, शिवानी दायमा, नरेंद्र सिंह, मनोज सिंह, दाऊदयाल जोशी, दीपक मुद्गल आदि पार्षदों ने पट्टों में फर्जीवाड़ा, बदहाल सफाई व्यवस्था, कचरा प्रबंधन आदि मुद्दों को लेकर बैठक का बहिष्कार किया और जमकर नारेबाजी भी की। बैठक का बहिष्कार करने वाले पार्षदों ने प्रतीकात्मक बैठक भी आयोजित की जिसमें पार्षद सुरेंद्र एडवोकेट को मेयर व हरभानसिंह को डिप्टी मेयर चुनकर जनता की समस्याओं पर चर्चा की।

 

नगर निगम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने वालों में नेता प्रतिपक्ष रूपेंद्र सिंह जघीना, श्यामसुंदर गोड़, दाऊदयाल शर्मा, विमलेश, नीरज, शिवानी दायमा, सुंदर सिंह, मोहन सिंह,अनुराधा सिंह, सुमन प्रेमपाल, सुधा शर्मा,ओमवीर, भरत सिंह, नरेंद्र सिंह,ऋषिराज सिंह, कमलेश, मिथलेश, समंदर सिंह, किरण राणा, चंदा पंडा, भगवान सिंह, मनोज सिंह, चंद्रकला, रेनू गोरावर,सुरजीत सिंह,वीरेंद्र सिंह, भानुप्रताप, मनीषा,दीपक मुद्गल,कलुआ राम, भगवान सिंह, कपिल फौजदार, पंकज गोयल, शैलेश पाराशर, रेखा रानी, सुरेंद्र कुमार, वीरमति ,भगवान सिंह,नरेंद्र चौधरी, नरेश जाटव, राजेंद्र सिंह, रजनी गोविंद आदि पार्षद शामिल रहे।

नगर निगम में आज हुए हंगामे में रोचक बात यह नजर आई कि डिप्टी मेयर गिरीश चौधरी न तो बैठक में शामिल हुए और न ही उन्हें विरोधी पार्षदों के साथ देखा गया। इधर नगर निगम की साधारण सभा की बैठक स्थगित होने के मामले पर मेयर अभिजीत कुमार ने कहा कि एक बात उनकी समझ से परे है कि जिन पार्षदों ने बैठक का बहिष्कार किया है उन्होंने ही कई बार बैठक आयोजित कराने के लिए ज्ञापन दिए थे और आज जब बैठक बुलाई गई तो वही पार्षद बैठक से नदारद रहे।