जिले के सीधी थाना क्षेत्र की रहने वाली एक 22 वर्षीय युवती के साथ भोपाल में सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। आरोपियों के चंगुल से किसी तरह छूटने के बाद पीड़िता भोपाल से भागकर शहडोल पहुंची।

जिसके बाद युवती ने परिजनों के साथ अपने ग्राम से सीधी थाना आकर भोपाल में उसके साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले की शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद सीधी थाना पुलिस ने यहां शून्य में मामला कायम कर आगे की विवेचना और कार्यवाही के लिए डायरी भोपाल भेज दी है।

ऐसा है पूरा घटनाक्रम -

पुलिस के मुताबिक पीड़िता ने सीधी थाना में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि गत 12 जनवरी को वह काम के सिलसिले से किसी कृष्णा नामक युवक निवासी भोपाल के बुलावे पर भोपाल गई थी। उसने कृष्णा को फोन पर भोपाल रेलवे स्टेशन से अपने वहां पहुंचने की जानकारी दी। जिसके बाद युवक स्टेशन पर आकर उससे मिला और उसने कहा कि अभी काम नहीं मिल पाएगा।

उक्त युवक ने इसके बाद युवती को घर वापस लौट जाने के लिए कहा। जिसके बाद पीड़िता रेल्वे स्टेशन में ही बैठी रही। सुबह करीब 8 बजे वह प्लेटफार्म नंबर 6 से बाहर निकली। जहां पर स्टेशन के सामने खड़े एक ऑटो चालक ने युवती से पूछा- कहां जाओगी। जिस पर युवती ने जवाब दिया- कहीं नहीं, मुझे शहडोल जाना है। जिसके बाद ऑटो चालक वहां से चला गया।

लेकिन, कुछ देर बाद ही वह फोर व्हीलर लेकर वापस लौटा। इस बार उसके साथ तीन अन्य युवक भी सवार थे। ऑटो चालक और उसके साथ आए अन्य तीनों युवक, युवती को काम दिलाने के बहाने भोपाल स्थित एक घर में लेकर गए। जहां पर आरोपियों ने युवती के साथ जबरन सामूहिक दुष्कर्म किया।

घटना के बाद वापस लौटने के लिए बैठी ट्रेन में -

घटना के बाद युवती आरोपियों चंगुल से छूटकर किसी तरह वापस घर आने के लिए ट्रेन में बैठ गई। लेकिन, युवती गलती से ग्वालियर पहुंच गई। वहीं उसने बताया कि एक व्यक्ति की मदद से वह कटनी से सतना होते हुए मैहर पहुंची। जिसके बाद उसने अपनी बहन से आप बीती बताई। बहन ने उसके डर और मानसिक स्थिति को देखते हुए अपने घर पर उसे रोक लिया। संतुलित होने पर वह पीड़िता को अपने साथ सीधी लेकर आई।

परिजनों के साथ युवती ने 19 जनवरी को सीधी थाना जाकर मामले की शिकायत दर्ज कराई गई। सीधी थाने में पदस्थ सहायक उपनिरीक्षक नागेंद्र सिंह ने बताया कि युवती के साथ घटना भोपाल में घटित हुई है। इसलिए यहां शून्य पर मामला कायम कर आगे विवेचना और कार्यवाही हेतु डायरी भोपाल पुलिस के पास भेज दी गई है।