उत्तर प्रदेश के लखनऊ में बड़ा हादसा हो गया है। राजधानी लखनऊ के हसनगंज इलाके में मंगलवार शाम को एक बहुमंजिला इमारत गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। घटनास्थल पर राहत एवं बचाव अभियान जारी है। यूपी के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। पुलिस प्रशासन घटनास्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव अभियान में जुट गया है।

मंगलवार को वजीर हसनगंज रोड पर अचानक बहुमंजिला इमारत गिरने पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि राहत और बचाव कार्य किया जा रहा है। SDRF, NDRF  की टीम मौके पर मौजूद है। तीन शव बरामद हुए हैं। लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। सात लोगों को अचेत अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। रेस्क्यू टीम राहत एवं बचाव अभियान में लगी हुई है।

इस हादसे को लेकर लखनऊ के डीजीपी डीएस चौहान ने कहा कि जिस समय बिल्डिंग गिरी उस समय 8 परिवार बिल्डिंग के अंदर मौजूद थे। उन्होंने बताया कि पांच लोगों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया है। डीजीपी ने बताया कि लगभग 30-35 लोगों के अंदर होने की संभावना है। रेस्क्यू ऑपरेशन युद्ध स्तर पर जारी है।

लखनऊ में बिल्डिंग गिरने की दुर्घटना का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। उन्होंने घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है।