संवाददाता- प्रीतम सिंह 

बहराइच। उत्तर प्रदेश के जनपद बहराइच के खैरीघाट इलाके में रास्ते की जमीन को पैमाइश से रोकने एवं ग्रामीणों के साथ गाली गलौज और मारपीट करने के आरोप में पूर्व विधायक व समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता दिलीप वर्मा के ऊपर दो मुकदमें दर्ज किया गए हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि चौगोई गाँव मे रास्ते की जमीन और सार्वजनिक दुर्गा पूजा स्थल की जमीन की पैमाइश करने के लिए प्रशासन द्वारा आदेश जारी किया गया था और इसी आदेश के तहत लेखपाल एवं खैरीघाट थाने के पुलिसकर्मी पैमाइश करने के लिए पहुंचे थे। लेकिन जो आदमी काबिज़ था उसके समर्थन में पूर्व विधायक अपने कई साथियों के साथ मौके पर पहुँच गए और लेखपाल को जाति सूचक गाली देने लगे।

पूर्व प्रधान चौगोई इंद्र सेन गुप्ता ने यह भी बताया कि दिलीप वर्मा ने छब्बे लाल मौर्या को जम कर पीटा है जिसके निशान उसके शरीर पर दिखाई भी दे रहे हैं। अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बताया कि पूर्व विधायक दिलीप वर्मा ने ज़मीन की पैमाइश के मामले में लेखपाल और पुलिस के साथ अभद्रता की है जिस मामले में लेखपाल संजीव कुमार की शिकायत पर खैरीघाट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, एक अन्य अभियोग भी जो पीड़ित है उसके द्वारा दर्ज कराया गया है।

आपको बता दें कि पूर्व विधायक दिलीप वर्मा का यह कोई नया कारनामा नहीं है. इसके पहले भी पूर्व विधायक एक अनुसूचित जाति के सिपाही की पिटाई मामले में सजा काट चुके हैं. इसके अलावा CO के साथ कोतवाली के अंदर हाथापाई व तहसीलदार को तमाचा मारने को लेकर भी विवादों में रहे. वहीं, अब लेखपाल से अभद्रता करने के मामले में एक बार फिर पूर्व विधायक का नाम सुर्खियों में छा गया है।

और पढ़े...

Moradabad: गैंगरेप के बाद सड़क पर नग्न अवस्था में घूमती नजर आई पीड़ित