दिल्ली। दिल्ली के जंतर मंतर में मैदान में धरना प्रदर्शन दे रहे पहलवानों ने आज यानी गूरूवार को रेल मंत्रालय में बातचीत के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सीधे खेल महासंघ के अध्यक्ष को चुनौती दी है। पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजशरण सिहं हमारे सामने 2 मिनट आएं और बात कर ले।

भारतीय पहलवान व ओलंपियन विनेश फोगाट कहा कि हमें जान का भी खतरा है, हमने पुलिस का प्रोटेक्शन भी नहीं ली है। जब शोषण होता है तो एक कमरे में होता है वहां कैमरे नहीं लगाए जाते हैं। वे लड़कियां भी हमारे साथ हैं जो इसे साबित कर सकती हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे साथ 5-6 महिला पहलवान हैं जिन्होंने इन शोषण का सामना किया है और हमारे पास इसे साबित करने के सबूत हैं। हमें सरकार से कोई संतोषजनक प्रतिक्रिया नहीं मिली है। हम सुनिश्चित करेंगे कि बृजभूषण सिंह इस्तीफा दें और उन्हें जेल हो, हम केस दर्ज कराएंगे।

जंतर-मंतर पर WFI के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भारतीय पहलवान व ओलंपियन बजरंग पुनिया ने कहा हम चाहते हैं कि फेडरेशन को बंद किया जाए क्योंकि फेडरेशन में वे अपने ही लोगों को बिठाएंगे। अगर इसका समाधान जल्दी नहीं निकला तो हम कानून का भी सहारा लेंगे। साथ ही उन्होंने आगे कहा कि हमारी लड़ाई फेडरेशन के खिलाफ है न कि सरकार के खिलाफ।

भारतीय पहलवान साक्षी मलिक ने कहा कि मीटिंग में सिर्फ आश्वासन दिया गया है, किसी तरह का ठोस कदम या एक्शन लेने की बात नहीं की गई। हम रेसलिंग फेडरेशन को भंग करवाना चाहते हैं। हर जगह उनके लोग हैं। हमें केरल, महाराष्ट्र से फोन आ रहे हैं जो पीड़ित रही हैं। हमारी PM से गुजारिश है कि इंसाफ करें।

आपको बता दें कि पहलवानों ने कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर गंभीर आरोप लगाए है। हालांकि बृजभूषण शरण सिंह ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये साजिश है. उन्होंने कहा कि अगर आरोप सही साबित हुए, तो मैं फांसी पर लटकने के लिए तैयार हूं। खेल मंत्रालय के साथ खिलाड़ियों की बैठक समाप्त हो चुकी है। जिसके बाद ऐसा कहा जा रहा है कि भारतीय कुश्ती संघ के अधयक्ष बृजभूषण शरण सिंह 22 जनवरी को इस्तीफा दे सकते है।

इसे भी पढ़े............

बृजभूषण सिंह 22 जनवरी को इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं, क्या रंग लाएगी पहलवानों की लड़ाई