पंजाब के 88 साल के बुजुर्ग की लगी लॉटरी लोहड़ी पर खरीदी टिकट, जीते 5 करोड़

किसम्त कब किसकी पलट जाए कोई नहीं जानता। कब किसकी लॉटरी निकल जाए कोई नहीं जानता। जब कोई अपनी उम्र की ढलान पर हो। 88 बसंत देख चुके हों और उनकी करोड़ों की लॉटरी लग जाए तो आप क्या कहेंगे। पंजाब में ऐसा ही कुछ हुआ है। कुछ ही लोगों के हाथ में ऐसी कामयाबी की लकीरें होती हैं। पंजाब के डेराबस्सी के रहने वाले 88 साल के बुजुर्ग महंत द्वारका दास ऐसे ही खुशनसीब हैं जिन्होंने पूरे 5 करोड़ की लॉटरी जीती है। बीते दिन लोहड़ी के मौके पर उन्होंने लॉटरी की टिकट खरीदी थी जिसने उन्हें अब करोड़पति बना दिया। 

डेराबस्सी में त्रिवेदी कैंप के निवासी और बेहद साधारण परिवार से आने वाले 88 साल के महंत द्वारका दास के 5 करोड़ की लॉटरी जीतने की खबर आते ही पूरे गांव में खुशी की लहर दौड़ गई और आसपास के लोग उन्हें बधाई देने पहुंचने लगे। लॉटरी जीतने के बाद महंत द्वारका दास ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं। मैं पिछले 35-40 सालों से लॉटरी खरीद रहा हूं। जब उनसे पूछा गया कि इतनी बड़ी राशि का आप क्या करेंगे तो जवाब में उन्होंने कहा कि मैं जीत की ये रकम अपने दोनों बेटों और अपने डेरा में बांट दूंगा।

अपने पिता की इस खुशखबरी पर महंत द्वारका दास के बेटे नरेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि मेरे पिता ने मेरे भतीजे को लॉटरी टिकट खरीदने के लिए पैसे दिए थे अब उन्होंने इसे जीता और हम काफी खुश हैं। 

महंत द्वारका दास ने लोहड़ी के मौके पर लोहड़ी मकर सक्रांति बम्पर लॉटरी खरीदी थी। उन्होंने जीरकपुर से बम्पर लॉटरी का टिकट खरीदा और कर कटौती के बाद उन्हें करीब 3.5 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। पंजाब राज्य लोहड़ी मकर संक्रांति बम्पर लॉटरी 2023 के परिणाम 16 जनवरी को घोषित किए गए थे। 

बता दें कि महंत द्वारका दास 1947 में 13 साल की उम्र में अपने परिवार के साथ पाकिस्तान से वापस भारत लौट आए थे। वे शुरू से ही लगातार लॉटरी टिकट खरीद रहे थे क्योंकि वह इसके जरिए अपने परिवार और खुद के जीवन में काफी बदलाव लाने का सपना देखते थे। द्वारका दास का कहना है कि ईनामी राशि में से आधी डेरा को दान करने और फिर शेष राशि को अपने दोनों बेटों के बीच समान रूप से बांट देंगे।

  • Saurabh Dwivedi
  • 1/21/23, 12:39 PM

देश/विदेश/राज्य


मनोरंजन


ट्रेंडिंग


वायरल न्यूज़