क्रिस हिपकिन्स ने आज न्यूज़ीलैण्ड के 41वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली है। क्रिस हिपकिन्स का जन्म 5 सितम्बर 1978 को हुआ था। उन्होंने न्यूज़ीलैण्ड की राजनीति में अहम भूमिका निभाई है। क्रिस हिपकिन्स ने जेसिंडा अर्डर्न के पिछले सप्ताह इस्तीफा देने के बाद, न्यूज़ीलैण्ड के 41वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली है। हिपकिन्स, 44 वर्ष के हैं और वह नौ महीने से भी कम समय के लिए प्रधानमंत्री पद पर रहेंगे। उन्होंने अर्थव्यवस्था पर भी धयान देने का वादा किया है।

हिपकिन्स ने शपथ समारोह के दौरान कहा कि, “यह मेरे जीवन का सबसे बड़ा सुभाग्य और जिम्मेदारी है और मैं भावी चुनौतियों को लेकर उत्सुक्त और ऊर्जावान हूँ।“ इससे पहले हिपकिन्स पुलिस, शिक्षा और सार्वजनिक सेवा मंत्री रह चुके हैं। न्यूज़ीलैण्ड की गवर्नर जनरल सिंडी कीरो ने जेसिंडा अर्डर्न का इस्तीफा स्वीकार करने के बाद क्रिस हिपकिन्स को शपथ ग्रहण कराई। देश में पहली बार प्रशांत द्वीप से नाता रखने वाले व्यक्ति को ये ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। इससे पहले हिपकिन्स पुलिस और शिक्षा के क्षेत्र में सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने कोरोना काल के दौरान संकट के प्रबंधन में एहम भूमिका निभाई है। लेकिन सरकार में अर्डर्न ने ही लोगों को आकर्षित किया।

करीब पांच साल तक इस पद पर रहने के बाद अर्डर्न ने पिछले सप्ताह अचानक इस्तीफा देकर अपने देश के लोगों को चौंका दिया। अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए अर्डर्न के कहा कि प्रधानमंत्री का पद काफी ज़िम्मेदारी और समर्पण मांगता है लेकिन अब वे इसके साथ न्याय नहीं कर पा रही हैं, इसलिए पद से हट रही हैं। लेकिन उनके कई साथी हैं जो इस ज़िम्मेदारी को बखूबी निभा सकते हैं।