तुर्की के अंकारा में बुधवार सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। बताया जा रहा है कि भूकंप के तेज झटकों ने तुर्की के उत्तर-पश्चिमी डुज़से प्रांत को प्रभावित किया। वहीं इस्तांबुल और अंकारा शहर में भी भूकंप से धरती कांप उठी।

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.0 थी। इसके साथ ही भूकंप की गहराई जमीन से 10 किलोमीटर नीचे थी। हालांकि इस बीच राहत की खबर ये रही कि इस भूकंप से कोई जानमाल के नुकसान नहीं हुआ।

बता दें कि इससे एक दिन पहले यानि मंगलवार को भूकंप के झटके लेह में महसूस किए गए। यहां भूकंप की तीव्रता 4.3 थी। लेह में आए भूकंप का केंद्र लद्दाख के कारगिल से 191 किमी उत्तर में था। वहीं दो दिन पहले भूकंप ने इंडोनेशिया में भारी तबाही मचाई थी। इंडोनेशिया में भूकंप से 162 लोगों की मौत हो गई जबकि सैकड़ों लोग घायल हो गए।

आपके बता दें कि इंडोनेशिया में भूकंप की तीव्रता 5.6 थी। इतना ही नहीं यहां भूकंप के झटके इतने तेज थे कि कई बड़ी इमारते धराशाही हो गई। ऐसे में मलबे के नीचे फंसे हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया।