पूर्व पीएम इमरान खान के समर्थकों के भारी विरोध के बाद पाकिस्तान के सुरक्षाकर्मी लाहौर स्थित इमरान खान के घर से पीछे हट गए है। इमरान खान को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को सेना की मदद लेनी पड़ी। इमरान खान की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे समर्थकों पर पाकिस्‍तानी सेना ने कड़ी कार्रवाई करते हुए गोलियां चलाई थी। इसके जवाब में इमरान के समर्थकों ने पेट्रोल बम और पत्‍थरों से हमला किया। वहीं इस्लामाबाद कोर्ट ने अगले आदेश तक इमरान खान की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी।

पाकिस्‍तान में पिछले करीब 24 घंटे से चला आ रहा राजीतिक घमासान अब हिंसा में बदल गया है। इमरान खान के समर्थकों को करारा जवाब देने के लिए पुलिस मंगलवार से लाहौर के जमान पार्क स्थित इमरान खान के घर के बाहर खड़ी हुई थी। वही बुधवार को इमरान के समर्थकों पर कार्रवाई करने के लिए सेना की मदद लेनी पड़ी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने विरोध प्रदर्शन कर रहे इमरान समर्थकों पर गोलियां और आंसू गैस के गोले छोड़े थे। इमरान समर्थकों ने भी इस कार्रवाई का जवाब देते हुए सुरक्षाबलों पर पेट्रोल बम और पत्थरों से हमला किया। इसके बाद सुरक्षाकर्मी वहां से भाग खड़े हुए।

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तानी सेना के रेंजर्स ने इमरान समर्थकों को घर से हटाने के लिए गोलियां चलाई थी। वहीं पाकिस्तानी पुलिस ने समर्थकों को हटाने के लिए पिछले 20 घंटे से आंसू गैस के गोले और एसिट वाला पानी छोड़कर उन्हें हटाने का प्रयास किया। लेकिन पाकिस्तानी पुलिस समर्थकों को हटाने में असफल रही। इसके बाद पाकिस्तनी सेना को बुलाया गया, लेकिन इमरान के समर्थकों ने सेना को भी करारा जवाब दिया और पाकिस्तानी सेना ने हार मानकर पीछे हट गई।

इमरान खान की पार्टी पीटीआई के समर्थकों ने पेट्रोल फेंककर पाकिसतानी सेना को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया। इस दौरान इमरान समर्थकों ने पट्रोल बम के साथ जमकर पत्थरबाजी भी की। पाकिस्‍तानी सेना के पीछे हटने पर इमरान खान के समर्थकों ने खुश होते हुए कहा कि हमने पाकिस्तानी रेंजर्स को पीछे धकेल दिया है। पाकिस्तानी सेना के पीछे हटने पर इमरान समर्थकों में जश्न का माहौल है। वहीं हिंसा बढ़ने पर इस्लामाबाद कोर्ट ने फिलहाल कोई भी कार्रवाई करने से मना कर दिया। कोर्ट ने अगले आदेश तक इमरान खान की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।