यरुशलम में बुधवार को दो अलग-अलग बस स्टॉप पर दो बम धमाके हुए है। इन धमाकों में एक व्याक्ति की मौत हो गई, जबकि 21 लोगों के घायल होने की खबर है। इजराइल की पुलिस और बचाव कर्मियों ने इस घटना को आतंकी हमला बताया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, यरूशलम में पहला धमाका बुधवार सुबह करीब सात बजे गिवत शॉल में हुआ। बताया गया कि यह धमाका ऐसे समय में हुआ है, जब ज्यादातर कर्मचारी अपने कार्यालय और छात्र विद्यालय जाने के लिए रास्ते में थे। वहीं चिकित्सा अधिकारियों का कहना है कि "धमाके के दौरान बस स्टॉप पर मौजूद 17 लोग घायल हो गए जिनमें से चार की हालत गंभीर बताई जा रही है।" वहीं की मौत हो गई।

वहीं दूसरा धमाका यरुशलम के रामोत में एक बस स्टॉप पर सुबह करीब 7ः30 बजे हुआ। यह काफी भीड़भाड़ वाला इलाका है। इस बम धमाके में चार लोग घायल हो गए है। रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने अपनी शुरुआती जांच में बताया कि "ज्यादा से ज्यादा लोगों को हताहत करने के लिए विस्फोटक के साथ कीलों का इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा इन धमाकों को एक ही रिमोट उपकरण से नियंत्रित किया गया था।"

बम धमाकों पर इजराइल के पुलिस आयुक्त कोबी शब्ताई ने कहा कि "यह हमले की ऐसी कार्य योजना थी, जिसे हमनें कई सालों से नहीं देखा।" उन्होंने कहा कि "यह समन्वित आतंकी हमले लगता है। किसी ने तुरंत इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन हमास आतंकी समूह ने इन धमाकों की सराहना की है।"