पाकिस्तान के कराची में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां पढ़ाई नहीं करने पर पिता ने अपने 12 साल बेटे को आग लगा दी। इसके बाद उसके बेटे की मौत हो गई। इसके बाद आरोपी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। इसके बाद आरोपी को कोर्ट ने 24 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

जानकारी के अनुसार, कराची के ओरंगी टाउन में 14 सिंतबर को नजीर ने अपने 12 वर्षीय बेटे शाहीर पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी। इसके बाद बच्चे की मां की शिकायत पर आरोपी पिता को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया।

बताया गया कि गंभीर रूप से झुलसे बच्चे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इस घटना के बाद सोमवार को आरोपी पिता नजीर को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। इसके बाद कोर्ट ने उसे 24 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

पुलिस को पूछताछ में नजीर ने बताया कि उसका इरादा बेटे को जान से मारने का नहीं था। बेटे को डराने के लिए उसने मिट्टी का तेल डाला था, क्योंकि वह होमवर्क नहीं कर रहा था। नजीर ने बताया कि उसने डराने के लिए जैसे ही माचिस जलाई तो तेल ने आग पकड़ ली। जिसके बाद लड़का गंभीर रूप से झुलस गया।

जानकारी के अनुसार, यह घटना उस समय हुई जब शाहीर ने होमवर्क पूरा करने की जगह पतंग उड़ाने के लिए बाहर जाने के लिए कहा था। इस बात से नजीर को गुस्सा आ गया। पुलिस के मुताबिक नजीर ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।