रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने फिर एक बाद परमाणु हमले की चेतावनी दी है। राष्ट्र के नाम संबोधन में पुतिन ने अमेरिका समेत कई पश्चिमी देशों को परमाणु हमले की धमकी दी। पुतिन ने कहा कि कोई भी परमाणु हमले की चेतावनी की हल्के में ना ले।

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि पश्चिमी देश रूस को तबाह और कमजोर करने की साजिश रच रहे है। अब इन देशों ने अपनी सीमा पर कर दी दी है। पुतिन ने जोर देते हुए कहा कि अगर अब रूस पर खतरा मंडराया तो हम परमाणु हमला कर देंगे। उन्होंने कहा कि परमाणु चेतावनी कोई ड्रामा नहीं है।

राष्ट्रपति पुतिन ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि यूक्रेन में सैनिकों के बढ़ाने पर जोर दिया गया। साथ ही सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है। इसके तहत रूस तीन लाख रिजर्व सैनिकों को इकट्ठा कर रहा है।

दरअसल, पुतिन ने रूसी मिलिट्री पावर को बढ़ाने के साथ साथ यूक्रेन के डोनबास पर कब्जा करने की तैयारियों को और तेज कर दिया दिया है। इसके अलावा रूस यूक्रेन के खेरसॉन और जपोरिजिया पर भी कब्जा करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने इन क्षेत्रों में जनमत संग्रह कराने का आदेश दिया है।

बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में डोनेट्स्क, लुहांस्क, खेरसॉन और जपोरिजिया के लोग रूस में शामिल होने पर वोट करेंगे। इन इलाकों में रूसी भाषी लोगों की संख्या बहुत अधिक है। अगर इन इलाकों में रूस का कब्जा हो जाता है तो यूक्रेन अर्थिक रूप से तबाह हो जाएगा।